Home Loan Kya Hai, Kaise Le, Prakar | होम लोन क्या है, कैसे ले, प्रकार?

दोस्तों, आज हम जानेंगे कि Home Loan क्या होता है? यह कितने प्रकार का होता है? आप होम लोन किस प्रकार ले सकते है? सभी का सपना होता है कि वह अपनी जिंदगी में अपने परिवार के साथ खुद के पैसों से बने घर में रहे या अगर आपका घर छोटा है और आपके परिवार के लोगों के लिए जरुरत के हिसाब से वहाँ Space नहीं है तो ऐसे में, आप भी यह सोचते होंगे कि काश! हमारे पास इतने पैसे होते कि हम भी अपना खुद का एक आलीशान घर बना सके।

दोस्तों, चिंता करने की जरुरत नहीं है, क्योंकि यदि आपके पास इतने पैसे नहीं है तो आप भी अपने लिए एक Home Loan ले सकते है। जी हाँ, होम लोन आजकल सब लेते है और अपने लिए सुरक्षित और सुन्दर घर का निर्माण भी करते है तो Home Loan Kya Hai, इसे Kaise Le सकते है और होम लोन कितने Prakar (Types) का होता है, इसके बारे में हम इस लेख में विस्तार से जानेंगे।

Table of Contents

Home Loan Kya Hai? होम लोन क्या है?

होम लोन किसे कहते है या What is Home Loan? इसे समझने से पहले हम समझते है कि यह “लोन (Loan)” होता क्या है?

“किसी भी उधार देने वाली संस्था, कंपनी या बैंक से जब कोई व्यक्ति अपने निजी कार्य या व्यापार सम्बंधित वित्तीय (Financial) आवश्यकता को पूरा करने के लिए इन संस्थाओं के माध्यम से जो एक धन-राशि लेता है और बदले में, इन संस्थाओं को ब्याज दर (Interest Rate) के साथ हर महीने या साल में एक बार अपने द्वारा ली गई राशि को चुकाता है तो इसे ही लोन (Loan) बोलते है।”

इसके लिए व्यक्ति प्रत्येक महीने EMI (Equated monthly installment) भरता है। EMI का मतलब होता है “जो लोन आपने लिया है उसको चुकाने पर जो समान मासिक किश्तों का भुगतान किया जाता है, उसे EMI कहते हैं।”

एक लोन लेने के लिए आपको उस संस्था, कंपनी या बैंक को सुरक्षा (Security) के रूप में अपनी प्रॉपर्टी जैसे जमीन आदि गिरवी भी रखनी पड़ती है। ताकि अगर आप लोन चुकाने में असमर्थ रहे तो बैंक या संस्था आपकी प्रॉपर्टी बेचकर अपने लोन को वसूल सके।

Home Loan इसी लोन का ही एक प्रकार होता है। जब व्यक्ति को अपने लिए घर या घर की मरम्मत या घर के लिए जमीन आदि खरीदना होता है तो व्यक्ति होम लोन लेता है।

इससे आप समझ गए होंगे कि होम लोन क्या होता है? आइये जानते है Home Loan के प्रकार (Types) के बारे में।

यह भी पढ़े: बैंक ऑफ बड़ौदा से होम लोन कैसे ले?

Home Loan Ke Prakar कौनसे है? होम लोन के प्रकार (Types)

होम लोन लेने से पहले आपको यह जान लेना आवश्यक है कि आपको Home Loan किस प्रकार का लेना है? मेरा मतलब कि होम लोन लेने के पीछे आपका मकसद क्या है। इसके कुछ निम्न प्रकार है –

  • घर खरीदने के लिए होम लोन (Home Purchase Loan)
  • घर सुधार के लिए होम लोन (Home Improvement Loan)
  • घर निर्माण के लिए होम लोन (Home Construction Loan)
  • जमीन/प्लॉट खरीदने के लिए होम लोन (Land/Plot Purchase Loan)
  • घर में विस्तार हेतु होम लोन (Home Extension Loan)
  • जॉइंट होम लोन (Joint Home Loan)
  • होम लोन बैलेंस ट्रांसफर (Home Loan Balance Transfer)
  • टॉप अप होम लोन (Top Up Home Loan)
  • एनआरआई होम लोन (NRI Home Loans)
  • ब्रिज लोन (Bridge Loan)

घर खरीदने के लिए होम लोन (Home Purchase Loan):

अगर आपका सपना कोई आलिशान घर खरीदने का है तो इस स्थिति में आपको यह लोन लेना चाहिए। अगर आप कोई बना बनाया घर खरीदना चाहते है तो यह लोन आपके लिए सर्वश्रेष्ठ है।

घर सुधार के लिए होम लोन (Home Improvement Loan):

अगर आपके घर को सुधार की आवश्यकता है, जैसे आपकी छत, दिवार, या अन्य चीज़ में ख़राबी है तो आप इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते है।

घर निर्माण के लिए होम लोन (Home Construction Loan):

अगर आपको आपकी जमीन पर अपने लिए एक घर का निर्माण करवाना है तो इस परिस्थिति में आपको यह लोन जरूर लेना चाहिए। क्योंकि इस तरह आप अपने अनुसार अपना खुद का घर बना सकते है। और उसे बहुत ही अच्छा और मजबूत बनाने के लिए बैंक से लोन ले सकते है।

जमीन/प्लॉट खरीदने के लिए होम लोन (Land/Plot Purchase Loan):

अगर आपको अपने लिए घर बनाना है तो आपको एक जमीन या प्लॉट की आवश्यकता तो होगी तो आप लैंड परचेस होम लोन ले सकते है। क्योंकि बहुत से लोगों के पास घर निर्माण के पैसे तो होते है पर बहुत सी जगह भूमि के दाम महंगे होने के कारण आप घर बनाने का विचार त्याग न दे इसके लिए आप यह लोन ले सकते है। भले ही आप घर बनाये या न बनाये दिन ब दिन जमीनों के दाम बढ़ रहे है तो आप बाद में उस प्लॉट या भूमि को महँगे दामों पर बेच सकते है।

घर में विस्तार हेतु होम लोन (Home Extension Loan):

अगर आपको अपने घर में अतिरिक्त कमरा, बाथरूम, किचन, गेराज, या एक मंजिल और घर में बनवाना है तो आप यह लोन ले सकते है। बहुत से घरों में परिवार के लोगों को अतिरिक्त Space (जगह) की आवश्यकता होती है तो आपको यह सोचने की आवश्यकता नहीं है कि आप पैसे कहाँ से मैनेज करेंगे। आपकी यह समस्या बैंक या अन्य वित्तीय संस्था पूरा कर सकती है। इसलिए यह लोन लेकर आप अपने घर में अतिरिक्त आवश्यक सुविधा जोड़ सकते है।

जॉइंट होम लोन (Joint Home Loan):

यदि दो या दो से अधिक लोग मिलकर या संयुक्त तरीके से गृह ऋण लेना चाहते है तो ऐसे लोन को जॉइंट या संयुक्त होम लोन कहा जाता है। इस लोन के लिए आपका और आपके साथी का पारिवारिक रिश्ता होना चाहिए जैसे भाई-भाई, भाई-बहिन, पति-पत्नी या बाप-बेटे का।

होम लोन बैलेंस ट्रांसफर (Home Loan Balance Transfer):

यदि आप अपने लोन लोन लेने वाली संस्था या बैंक से खुश नहीं है (कारण: ज्यादा ब्याज दर, नियम व शर्तों से) तो इस स्थिति में आप अपना होम लोन दूसरे बैंक में ट्रांसफर करा सकते है। इससे आपको यह फायदा होगा कि आप नये बैंक या संस्था में आपको कम ब्याज दर या आसान नियम व शर्तों पर आप अपना होम लोन चालू रख सकते है। पर ऐसा करने से पहले आप नए बैंक या संस्था से आवश्यक जानकरी (जैसे ब्याज दर) ले ले।

टॉप अप होम लोन (Top Up Home Loan):

होम लोन के साथ टॉप अप होम लोन्स भी आते है। मतलब यदि आपने पहले से ही होम लोन ले रखा है तो आप अतिरिक्त टॉप अप लोन लेकर अपने जरुरी काम भी कर सकते है। जैसे यदि आपको अपने घर निर्माण के लिए कुछ पैसे कम पड़ गये या घर में कोई नई चीज़ जोड़नी है तो यह लोन आपके काफी काम आ सकता है।

एनआरआई होम लोन (NRI Home Loans):

यदि आप गैर भारतीय Non Resident Indian (NRI) है तो आप भी होम लोन के लिए अप्लाई का सकते है। यह लोन केवल भारत में रहा व्यक्ति ही अप्लाई कर सकता है। इसके लिए आपके पास जरूरी दस्तावेज़ (Documents) जैसे Identity Proof, Income Proof, PIO, OCI इत्यादि होने चाहिए।

ब्रिज लोन (Bridge Loan):

ब्रिज लोन को समझने के लिए आप इसे इस प्रकार से समझ सकते है कि यदि आपके पास कोई पुराना घर है जिसे बेचकर आप नया घर लेना चाहते है तो आप किसी संस्था या बैंक से उस पुराने घर के आधार पर एक छोटे समय (short term) के लिए एक ब्रिज लोन ले सकते है। इससे आपको नया घर खरीदने के लिए एडवांस में रकम मिल जाती है और जब आप अपना पुराना घर बेच दो तो आप उस संस्था या बैंक को उनकी मूल राशि तथा ब्याज के साथ अपना लोन चूका सकते हो। ऐसे लोन थोड़े समय के लिए ही लिये जाते है और इनका इंटरेस्ट रेट याने कि इनकी ब्याज दर काफी ज्यादा होती है। इस लोन को केवल वो व्यक्ति ही ले जिसे विश्वास हो कि वह थोड़े समय में ही इसे चूका देगा, क्योंकि इसके लिए व्यक्ति को साल दो साल का ही समय मिलता है।

Home Loan Kaise Le? होम लोन कैसे ले?

आज के समय में होम लोन लेना कोई मुश्किल काम नहीं है, कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन और ऑफलाइन माध्यम से बैंक से या किसी अन्य वित्तीय संस्था से होम लोन ले सकता है, इसके लिए आपको निम्नलिखित बातों की जानकारी होना आवश्यक है-

महत्वपूर्ण बिंदु: जब आप Home Loan के लिए अप्लाई करते हो तो आपको उसके लिए ब्याज दर फ़ीस के साथ-साथ अन्य शुल्क/फ़ीस जैसे एप्लीकेशन फ़ीस, प्रोसेसिंग फीस आदि भी देना पड़ता है तो इसका विशेष ध्यान रखे।

होम लोन की पात्रता व शर्तें (Eligibility & Conditions):

यह कुछ निम्न पात्रता व शर्तें है जो लगभग हर बैंक या संस्था में सामान्य रूप से पता होनी चाहिए।

  • इस लोन के लिए आपकी राष्ट्रीयता (आवेदक की) भारतीय निवासी, अनिवासी भारतीय (NRI) और भारतीय मूल का व्यक्ति (PIO) के रूप में होनी चाहिए।
  • आपकी उम्र सीमा 18 वर्ष से 70 वर्ष के मध्य में होनी चाहिए।
  • आपका क्रेडिट स्कोर 750 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • आप यदि नौकरीपेशा है तो आपका कार्य अनुभव कम से कम 2 वर्ष तक का होना चाहिए।
  • आपका यदि बिज़नेस है तो वह कम से कम 3 वर्ष पुराना होना चाहिए।
  • आपको अपनी संपत्ति के मूल्य का 90% तक लोन राशि दिया जाता है।
  • आपका न्यूनतम वेतन कम से कम 25,000 रुपये प्रति माह होना चाहिए।

होम लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Required Documents):

होम लोन लेने के साथ आपको एक Application Form भरना पड़ता है और उसके साथ कुछ जरुरी दस्तावेजों को भी देना पड़ता है जो कि निम्नलिखित है –

  • होम लोन एप्लीकेशन फॉर्म
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • पहचान का प्रमाण (जैसे: पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड etc.)
  • आयु का प्रमाण (जैसे: आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, जन्म प्रमाण पत्र etc.)
  • निवास का प्रमाण (जैसे: बैंक पासबुक, वोटर आईडी, राशन कार्ड, पासपोर्ट etc.)
  • आय प्रमाण
  • प्रॉपर्टी से संबंधित दस्तावेज़
  • वेतनभोगी आवेदक: हाल ही की (Latest) सैलरी स्लिप्स, 3 महीने तक की Bank Account Statements
  • स्व-वेतनभोगी आवेदक: बिज़नेस का प्रमाण, वित्तीय विवरण (Financial Statements), 6 महीने तक की Bank Account Statements

इन जरूरी बातों का ध्यान रखकर आप ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से लोन के लिए अप्लाई कर सकते है। आगे की प्रोसेस आपको अच्छे से पता करने के लिए आप जिस संस्था या बैंक से लोन ले रहे है, उनकी वेबसाइट या उनके पास Physically जाकर उनसे अच्छे से प्राप्त कर सकते है।

होम लोन लेने के लाभ:

1. होम लोन लेने से आप जल्दी अपना घर तैयार कर सकते है और आपको प्रतीक्षा करनी नहीं पड़ेगी कि कब आपके पास पैसे आएंगे और कब आप घर बनाएंगे।

2. बहुत से बैंक काफी सस्ती ब्याज दरों पर लोन देते है और आपको लेने भुगतान करने के लिए Loan Tenure Time (लोन चुकाने का समय) भी अधिक मिल जाता है, जिससे आप धीरे-धीरे करके अपना लोन ब्याज के साथ चूका सकते है।

3. अगर आप होम लोन लेते है तो भारत सरकार इंकम टैक्स एक्ट 1961 के तहत, आपको होम लोन लेने पर सरकार टैक्स लाभ देती है।

होम लोन FAQs:

Q. होम लोन के लिए ईएमआई की गणना कैसे करें?

A. Total Home Loan = होम लोन मूलधन + ब्याज. इसका सीधा सा अर्थ यह है कि लोन लेने के बाद आपको बैंक/संस्था को जो मूल राशि है वो तो चुकानी पड़ती ही है, साथ में आपको उनको ब्याज़ देना पड़ता है। तो इसको हम एक उदाहरण से समझते है।

EMI = होम लोन लेने के बाद ग्राहक बैंक/संस्था को जो राशि चुकाते हैं, उसमें ब्याज दर और मूलधन शामिल होता है, जिसे ईक्वल मंथली इंस्टॉलमेंट या इएमआई कहा जाता है।

– मान लीजिये कि आपको घर बनाने के लिए 10 लाख रूपये की जरुरत है और आपको यह लोन 10 साल के लिए चाहिए तथा ब्याज दर 10% है तो आपकी EMI होगी।

मूल राशि = 10,00,000 रुपये
कुल ब्याज राशि = 5,85,809
मासिक EMI = 13,215 (मूलधन + ब्याज़)
कुल राशि देना होगा = 15,85,809

मतलब कि जब आपका होम लोन का समय ख़त्म होगा तब आपको मूलधन (10,00,000) के साथ ब्याज (5,85,809) देना होगा।

Q. होम लोन क्या है?

जब व्यक्ति किसी संस्था या बैंक से अपने लिए घर बनाने/खरीदने/सुधारने/विस्तार के लिए जो मूल राशि लेता है और उसको एक निश्चित समय के बाद मूलधन तथा ब्याज के साथ चूका देता है तो इसे ही होम लोन कहते है।

Q. होम लोन लेने के लिए कितना सिबिल स्कोर (Cibil Score) चाहिए?

A. 750 या उससे अधिक।

Q. होम लोन लेने के लिए कितना क्रेडिट स्कोर (Credit Score) चाहिए?

A. 750 या उससे अधिक।

Q. होम लोन के लिए कौन से दस्तावेज़ों की आवश्यकता पड़ती है?

A. इसके लिए होम लोन एप्लीकेशन फॉर्म, पासपोर्ट साइज़ फोटो, पहचान का प्रमाण, आयु का प्रमाण, निवास का प्रमाण, आय प्रमाण, प्रॉपर्टी से संबंधित दस्तावेज़, सैलरी स्लिप्स, बिज़नेस का प्रमाण, वित्तीय विवरण, बैंक वित्तीय विवरण आदि।

Q. होम लोन के लिए कौनसी पात्रता व शर्तें चाहिए?

A. इसके लिए आपकी राष्ट्रीयता, उम्र सीमा, क्रेडिट स्कोर, सिबिल स्कोर, नौकरी, बिज़नेस की जानकारी, न्यूनतम वेतन कम से कम 25,000 रुपये प्रति माह आदि।

अंतिम शब्द:

मुझे उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आप यह समझ पाये होंगे कि Home Loan क्या है? यह कितने प्रकार का होता है और होम लोन कैसे लिया जाता है? होम लोन एक बहुत ही उत्तम तरीका है जिसके माध्यम से आप पैसो को उधार लेकर अपने लिए खुद का एक घर बना सकते है और अपना और अपने परिवार का सपना पूरा कर सकते है।

धन्यवाद!

Leave a Comment